कायम चूर्ण के फायदे इन हिंदी

कायम चूर्ण एक आयुर्वेदिक हर्बल औषधि है तो की कब्ज की समस्या में बहुत लाभकारी है, लेकिन इसको बहुत सावधानी से लेना चाहिए क्योंकि इसमें के आदत बनाने वाली हर्ब मिली है जिससे इसको ज्यादा दिन प्रयोग करने पर इसकी आदत पद जाती है। जानिये कायम चूर्ण का प्राइस और साइड इफेक्ट्स क्या है?

कायम चूर्ण को बार बार होने वाली कब्ज़, कब्ज़ से सिर का दर्द, आईबीएस, पेट नहीं साफ़ नहीं होने से बहुत एसिडिटी होना, बवासीर, गुदा फिशर, हार्ड स्टूल में लेते हैं। यह एक मेडिसिनल पाउडर है और आँतों पर उत्तेजक लेक्सेटिव का असर डालता है। इसे लेने से इंटेसटाइन में संकुचन होता है और आँतों में तरल स्राव में वृद्धि हो जाती है।

कायम चूर्ण को लेने की सोच रहें हैं तो कुछ बातें ध्यान दें। इसे कभी कभी लेना सही है। कोशिश करें कि इसे रोजाना नहीं लेना पड़े। रोजाना लेने लगेंगे तो बिना इस पाउडर के सेवन के आपको शौच नहीं आएगा। इसके उत्तेजक असर से आंतों की मसल्स कमज़ोर हो सकती हैं। क्योंकि इसमें नमक है इसलिए ब्लड प्रेशर हाई हो सकता है। नमक शरीर में वाटर रिटेंशन कर सकता है और बीपी की दवाओं से इंटरैक्ट कर सकता है। साथ ही तासीर में गर्म होने से इससे शरीर की गर्मी भी बढती है और गर्मी के रोग हो सकते है।

शॉर्ट टर्म में लेने के लिए कायम चूर्ण ठीक है लकिन यह लंबे – अवधि या उच्च खुराक में लेने के लिए संभवतः असुरक्षित है। इससे पेट में असुविधा, ऐंठन और दस्त सहित कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

कायम चूर्ण के फायदे या लाभ Health Benefits of Kayam Churna

कायम चूर्ण एक कब्ज़ को दूर करने वाल नुस्खा है। इसे लेने का फायदा है कि पेट साफ़ हो जाता है।

कायम चूर्ण करे पेट को साफ़

कायम चूर्ण में दस्तावर और उत्तेजक विरेचक के गुण हैं। यह पेट को साफ़ करता है और क्रोनिक कब्ज और एक्यूट कब्ज़ में राहत प्रदान करता है।

कायम चूर्ण से दूर होती है गैस

जब आँतों में खाना पड़ा रहता और सड़ता है तो गैस बनती है। गैस में बदबू आती और पेट भी भारी लगता है। पेट फूल जाता है और भूख नहीं लगती। जब तक पेट साफ़ नहीं हो जाता एसिडिटी, सिर दर्द और मुंह में छाले में होने लगते हैं। ऐसे में कायम चूर्ण को खाने से आँतों में पड़ा हुआ वेस्ट शरीर से गुदा के रास्ते शरीर से निकल जाता है और कब्ज़ के लक्षणों में राहत होती है।

कायम चूर्ण कब लेते हैं

  • कब्ज
  • कब्ज से जुड़ी अम्लता
  • गैस
  • कब्ज से जुड़ा सिरदर्द
  • मुंह में छाले जो कब्ज से हैं

कायम चूर्ण के नुकसान या साइड इफेक्ट्स

कोई भी दवा जो शरीर में इफ़ेक्ट डालती है उसके साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। इसलिए ऐसा मानना कि हर हर्बल पाउडर सेफ है, गलत है। हर हर्बल दवाई सेफ नहीं होती।

कायम चूर्ण के भी कई सारे साइड इफेक्ट्स हैं जो आपको इसे लेना शुरू करने से पहले पता होने चाहिए। कृपया केवल विज्ञापन पर न जाएँ और दिमाग लगाएं। हर दवा सभी पर काम नहीं करती। कुछ लोग कहेंगे यह बहुत अच्छा प्रोडक्ट है लेकिन बहुत से ऐसे उपभोक्ता भी है जो इसके साइड इफेक्ट देख चुके हैं।

कायम चूर्ण से आपको निम्न साइड इफेक्ट्स हो सकते है:

शार्टटर्म में लेने से नुकसान:

  • इलेक्ट्रोलाइट का संतुलन बिगड़ना
  • खून में ज्यादा सोडियम
  • तरल पदार्थ का नुकसान
  • पेट दर्द
  • पेट में ऐंठन
  • लूज़ मोशन

लॉन्गटर्म में लेने से नुकसान:

  • आँतों को नुकसान
  • उलटी लगना
  • चक्कर आना
  • ज्यादा ब्लड प्रेशर
  • पेट साफ़ करने के लिए पाउडर की आदत (निर्भरता)
  • प्राकृतिक पेरिस्टाल्टिक आंदोलनों का नहीं होना
  • शरीर में ज्यादा गर्मी होना
  • शरीर में पानी की कमी
  • शौच में खून आना

कायम चूर्ण कब नहीं लेना चाहिए Contraindications

कायम चूर्ण को निम्न में नहीं लेना चाहिए:

  • एसिडिटी की समस्या
  • कई बार शौच जाना
  • ज्यादा ब्लड प्रेशर
  • दस्त
  • पेट में दर्द ऐंठन
  • शरीर में पानी का भराव
  • शौच के साथ दर्द

गर्भावस्था और स्तनपान

गर्भावस्था के दौरान इसे नहीं लेना है। इससे ऐठन और दर्द शुरू हो सकता है। गर्भाशय संकुचन शुरू हो सकते हैं  और गर्भावस्था खुल सकता है।

दूध पिलाती हैं तो इसे नहीं लें। यह दूध से बच्चे में जा सकता है और बच्चे को पेट की दिक्कत हो सकती है।

बच्चों में इस्तेमाल

बच्चों के कब्ज़ में इसे नहीं देना है। यह एक हार्श लेक्सेटिव है जिससे समस्या बढ़ सकती है।

कायम चूर्ण लेने की मात्रा

कायम चूर्ण को एक चाय के चम्मच की डोज़ में लेना चाहिए। इसे रात में सोते समय गर्म पानी के साथ ले लें।

इसे लेने की मात्रा जो निर्माता के द्वारा बताई गई है वो आधा से दो चम्मच।

कायम चूर्ण का कम्पोजीशन संरचना (सामग्री)

  • सेना की पत्तियां – कैसिया एंजस्टिफोलिया 50%
  • ब्लैक साल्ट (काला नमक) 18%
  • अजवेन (कैरम कैप्टिकम) – ट्रेचिस्पर्मम अम्मी 11।5%
  • हरितकी – टर्मिनलिया चेबुला 8%
  • सर्वजिक्सर (शुद्ध) 5%
  • मुलेठी लिकोरिस 4।5%
  • निशोथ (त्रिवृत) – ऑपरुलीना टर्पेथम 3%

कब्ज़ हो गई है इसबगोल की भूसी लें और बहुत सारा पानी पियें। सलाद लें और आयरन तथा कब्ज़ करने वाले फोर्मुले बंद कर दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!