पतंजलि अमृत रसायन फायदे, नुकसान, मूल्य और लेने का तरीका

पतंजलि अमृत रसयन मस्तिष्क को पूर्ण पोषण देता है। यह सूक्ष्म invigorating तरल पदार्थ, ओज और शरीर के भीतर के सबसे अधिक वीर्य भी बढ़ाता है। पतंजलि अमृत रसयन में ब्रह्मी, आमला, केसर, घी, बादाम और अन्य विशेष संघटक की अच्छाई भी शामिल है।

आजकल मार्किट में दिमाग और शरीर के लिए बहुत से हेल्थ टॉनिक उपलब्ध हैं। यह हर्बल या आयुर्वेदिक हेल्थ टॉनिक जनरल हेल्थ को ठीक करते हैं, वज़न बढ़ाते हैं, मांसपेशियों को ताकत देते हैं और मेधा बढ़ाते हैं।

पतंजलि दिव्य फार्मेसी का अमृत रसायन भी एक ऐसा ही हर्बल हेल्थ टॉनिक है। इसमें इम्युनिटी को बढ़ाने वाला आंवाला है, मेधा के लिए अच्छी जड़ी बूटियाँ ब्राह्मी, शंखपुष्पि और बादाम है, पाचन ठीक से हो इसके लिए पिप्पली, इलाइची और दालचीनी है, साथ ही एनर्जी मिले इसके लिए चीनी है। अगर आप दस ग्राम अमृत रसायन खाते हैं तो आपको करीब 7. 4 ग्राम चीनी मिलती है।

अमृत रसायन को खाने के फायदे

अमृत रसायन मस्तिष्क को पोषण देता है। यह ओज और बल भी बढ़ाता है। यह दृष्टि सुधारने और सामान्य स्वास्थ्य टॉनिक के रूप में प्रयोग किया जा सकता है। यह शरीर को फिर से जीवंत करने में बहुत उपयोगी है। यह प्रतिरक्षा विकसित करने के लिये खाया जा सकता है।

बढ़ाए इम्युनिटी

आंवला एक इम्युनिटी को बढ़ाने वाला पौष्टिक फल है। यह मुख्य रूप से अपने उच्च विटामिन सी और फाइबर सामग्री के कारण यह बहुत फायदेमंद है। अमला प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद करता है। यह विटामिन सी, अन्य विटामिन और खनिजों से भरा है। यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है। इसमें विटामिन ए, फोलेट्स, मैग्नीशियम, पोटेशियम, कैल्शियम , पेंटोथेनिक एसिड, विटामिन बी 5, और फास्फोरस भी पाए जाते हैं। यह त्वचा, बालों और आँखों के स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद है। आमला में एंटी अल्सर गुण होते हैं और यह शरीर को ठंडा ररखता है। इससे एसिडिटी की समस्या में फायदा होता है। अमृत रासयाँ के दस ग्राम ने करीब ढाई ग्राम आंवला है जिससे यह सेहत को दुरुस्त करता है।

आँखों के लिए फायदेमंद

अमृत रसायन में आंवला होने से यह आँखों के लिए फायदेमंद है। यह विटामिन सी में समृद्ध है और एंटी ऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है। आमला पाचन तंत्र में सुधार करता है इसलिए भोजन की जैव उपलब्धता को बढ़ावा देता है। अपनी आँखों को स्वस्थ और दृष्टि बरकरार रखने के लिए रोजाना आंवले का सेवन करना चाहिए।

बढ़ाए वज़न

चीनी को खाने से शरीर को काम करने की एनर्जी मिलती है और इसे खाने से वज़न बढ़ता है। अमृत रसायन के दस ग्राम को खाने से करीब सात ग्राम चीनी मिलती है। यह चीनी की मात्रा ज्यादा है और अगर आप इसे नियमित दस ग्राम की मात्रा में खाते रहेंगे तो यह वज़न बढ़ा देगा। लेकिन सावधान, ज्यादा चीनी उन लोगों के लिए खतरनाक है जो खून में ज्यादा सुगर की समस्या से परेशान है या वज़न को घटाने की कोशिश में लगे है। जो लोग पतले दुबले हैं, काम करने की एनर्जी कम है या शरीर पर फैट कम है उन्हें इसमें चीनी होने से फायदा हो सकटा है। लेकिन फिर वज़न बढ़ाना भी तो इस टॉनिक का एक इफ़ेक्ट है।

बुद्धि और याददाश्त को करे फायदा

ब्राह्मी और शंखपुष्पि आयुर्वेद की मेधावर्धक जड़ी बूटियाँ है। बादाम भी बुद्धिवर्धक है। इसमें यह सभी द्रव्य है जो ब्रेन के सही फंक्शन में मदद करते हैं।

अवसाद को करे कम

केवांच में एल-डोपा होता है जो एक एमिनो एसिड है तथा मस्तिष्क में डोपामाइन में बदल जाता है। डोपामाइन एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो आनंद, प्रेरणा और मूड को नियंत्रित करने का काम करता है। दिमाग में डोपामाइन स्तर में कमी होने से हमें प्रेरणा में कमी, तनाव और उदासीन मनोदशा का सामना करना पड़ता है। अमृत रसायन में कौंच के बीज का इस्तेमाल किया गया है जो उदासीनता में फायदेमंद है।

अमृत रसायन है पौष्टिक

अमृत रसायन में बल वर्धक जड़ी बूटियाँ है जैसे बादाम, शतावरी, वंशलोचन आदि। इसे खाने से शरीर के अंगों को पोषण मिलता है और काम करने की शक्ति मिलती है।

कम करे बार बार होने वाले इन्फेक्शन

अमृत रसायन को खाने से इम्युनिटी बढ़ जाती है जिससे बार बार होने वाले इन्फेक्शन जैसे खांसी, जुखाम, और वायरल इन्फेक्शन आदि का होना कम होता है।

अमृत रसायन को खाने की मात्रा या डोज़

अमृत रसायन को दिन में दो बार, दूध के साथ ले सकते हैं। इसे लेने की मात्रा है:

  • बच्चे (6 वर्ष की आयु से ऊपर के बच्चे) 1 छोटा चम्मच
  • वयस्क 2 छोटे चम्मच

दिव्य अमृत रसायन के दुष्प्रभाव (Side Effects)

दिव्य अमृत रसायन को कोईस्वस्थ्य व्यक्ति लेता है तो कोई गंभीर साइड इफ़ेक्ट नहीं होता। यह काफी सेफ है। लेकिन इससे निम्न साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं जो इसमें डाली गई चीनी के कारण है।

बढ़ सकता है वज़न

दिन भर हम कई तरह के मीठे को खाते हैं जैसे मिठाई, फ्रूट जूस, टॉफी, चोकलेट, बिस्कुट आदि। ऐसे में इससे मिलने वाली एक्स्ट्रा चीनी से वज़न में बढ़ोतरी सम्भव है क्योंकि इसे दैनिक खाना है।

बढ़ा सकता है शुगर

जो लोग मीठा ज्यादा खाते है उनमें शुगर की समस्या हो सकती है यदि इसे रोजाना ज्यादा मात्रा में खाते रहते हैं।

अमृत रसायन को किसे नही खाना चाहिये

अमृत रसायन नही खाये यदि निम्न है:

  • मोटापा
  • प्रेगनेंसी
  • शुगर

दिव्य अमृत रसायन को कब लेना चाहिए

  • एनर्जी की कमी
  • कम इम्युनिटी
  • चिंता
  • डिप्रेशन (अवसाद)
  • तनाव
  • दिमाग का सही फंक्शन नहीं करना
  • बुढ़ापे में होने वाले रोग
  • याददाश्त की कमी
  • हृदय की निर्बलता या कमजोरी

दिव्य अमृत रसायन की कीमत

दिव्य अमृत रसायन 1 KG Rs 175

पतंजलि दिव्य अमृत रसायन का कम्पोजीशन

  • पतंजलि दिव्य अमृत रसायनके प्रत्येक 10 ग्राम में:
  • चीनी 7.4 ग्राम
  • आंवला पिष्टी 2.4144 ग्राम
  • केशर 0.6 मिलीग्राम

प्रक्षेप द्रव्य

  • ब्राह्मी 63.3 मिलीग्राम
  • शंखपुष्पी 63.3 मिलीग्राम
  • बादाम 64.4 मिलीग्राम
  • शतावरी 31.5 मिलीग्राम
  • छोटी इलाइची 31.5 मिलीग्राम
  • दालचीनी 31.5 मिलीग्राम
  • पीपली बड़ी 31.5 मिलीग्राम
  • शुद्ध कौंच बीज 31.5 मिलीग्राम
  • वंशलोचन 31.5 मिलीग्राम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!