पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल के 10 फायदे और कुछ नुकसान Patanjali Ashvashila

पतंजलि दिव्य अश्वशिला कैप्सूल अश्वगंधा पाउडर और शिलाजीत को मिलकर बनाई जाती है, जानिये पतंजलि दिव्य अश्वशिला कैप्सूल का पुरुषों की बिमारियों में फायदा और इसके सेवन से पॉसिबल साइड इफेक्ट्स क्या होते है। दिव्य अश्वशिला कैप्सूल को लेने का तरीका और कब नहीं लेना चाहिए।

पतंजलि दिव्य फार्मेसी के द्वारा निर्मित अश्वशिला कैप्सूल में अश्वगंधाऔर शिलाजीत है। यह दवाई पुरुषों में यौन कमजोरी, थकान, तनाव, सामान्यीकृत कमजोरी, अस्थमा, एलर्जी, मधुमेह, मधुमेह न्यूरोपैथी, मूत्र संबंधी विकार और प्रतिरक्षा के नुकसान में ली जाती है। पतंजलि अश्वशिला ऑनलाइन और पतंजलि के स्टोर्स में उपलब्ध है।

अश्वशिला बनाम शिलाजीत

अश्वशिला में शिलाजीत है जबकि शिलाजीत केवल शिलाजीत है। अश्वशिला में अश्वगंधा और शिलाजीत का कॉम्बिनेशन है जिससे इसमें दोनों के गुण आते हैं। अश्वगंधा से मसल्स बनते हैं और शिलाजीत से यौन अंगों को ताकत मिलती है साथ ही क्रोनिक बीमारियों में फायदा होता है।

यदि आपको अश्वगंधा और शिलाजीत दोनों के फायदे चाहिए तो अश्वशिला ले सकते हैं।

अश्वशिला के फायदे Benefits of Patanjali Ashwashila Capsules in Hindi

अश्वशिला से शरीर में ताकत आती है और स्टैमिना सुधरता है। शरीर में कमजोरी दूर होती है और गर्मी आती है। मसल्स मजबूत होते है और प्रजनन अंगों के सही से काम करने में मदद होती है।

बढाए फर्टिलिटी

अश्वशिला कैप्सूल पुरुष प्रजनन क्षमता के लिए एक विशिष्ट टॉनिक है क्योंकि यह वीर्य उत्पादन में वृद्धि करता है। इसके टॉनिक गुण सीमन में कमियों को दूर करते हैं तथा शुक्राणु की गुणवत्ता और मात्रा बनाने में मदद करते हैं।

दे ताकत अंगों को

अश्वशिला ऊर्जावान बनाता है। यह समय से पहले स्खलन और वीर्य का अपने आप कभी भी निकल जाने का इलाज करने में मदद करता है। यह लिंग को रक्त लाता है और इसलिए सीधा कार्य को सुविधाजनक बनाता है।

दूर करे यौन कमजोरी

अश्वशिला कैप्सूल पुरुषों के यौन कमजोरी में फायदेमंद है और इसके लिए अच्छी दवाई है। इससे पुरुषो के यौन रोगों जैसे शीघ्रपतन, वीर्य गिरना, इत्यादि को भी दूर किया जा सकता है।

दे ताकत दिमाग को

अश्वशिला से तंत्रिका कमजोरी, बेहोशी, चक्कर और अनिद्रा तथा अन्य मानसिक विकारों में भी लाभ होता है। इसे स्ट्रेस कम होता है और मन शांत होता है। इससे एरोबिक क्षमता और सहनशक्ति बढ़ जाती है।

करे टेस्टोस्टेरोन की मात्रा को ठीक

टेस्टोस्टेरोन एक पुरुष हॉर्मोन है जो की एनाबोलिक स्टीरॉएड है। इससे मांसपेशियां बनती है और प्रजनन अंग ठीक से काम करते है। पुरुष हो या महिला दोनों में यह पाया जाता है लेकिन ज्यादा और कम मात्रा में। यदि पुरुष में यह हॉर्मोन कम हो जाए तो लिबिडो कम हो जाता है, कड़ापन नहीं आता, बाल गिरने लगते हैं, नपुंसकता, प्रजनन क्षमता की कमी आदि लक्षण हो जाते हैं। अश्वशिला से टेस्टोस्टेरोन बढ़ता है और सम्बन्धी लक्षण दूर होते हैं।

दूर करे कम कामेच्छा की समस्या

अश्वशिला गर्म और उत्तेजक है। यह कम कामेच्छा और नपुंसकता के लिए फायदेमंद है।

सुधारे ऊर्जा, ताकत और सहनशक्ति

अश्वशिला टॉनिक है। इसे लेने से शारीरिक एवं मानसिक बल बढ़ता है। इसे स्टैमिना और इम्युनिटी में सुधार आता है। मांसपेशियों का विकास होता है और शरीर बलशाली होने लगता है। इससे खून में चीनी का स्तर कंट्रोल रहता है।  शरीर में दर्द की समस्या दूर होती है। इसे लेने से थकान और क्रोनिक फैटीग सिंड्रोम में भी फायदा होता है।

बढाए इम्युनिटी

अश्वशिला लेने से रोग प्रतिरोध क्षमता सुधरती है। इससे रोग कम होते हैं और शरीर की ताकत रोगों से लड़ने में नहीं बल्कि विकास के लिए इस्तेमाल में लाई जाती है।

कम करे कफ

अश्वशिला की पोटेंसी गर्म है। इससे यह पाचन को ठीक से कराता है और कफ और म्यूकस को सुखाता है।

मजबूत करे हड्डियाँ

अश्वशिला से हड्डियों को मजबूती मिलती है। साथ ही मसल्स भी बढ़ते हैं।

अश्वशिला का महिलाओं के लिए फायदा Ashwashila capsule for female

अश्वशिला को महिलाओं में भी प्रयोग किया जाता है। यह महिलाओं के लिए उपयोगी है जो कमज़ोर हैं, कम वज़न की है और गर्भाशय की मांसपेशियां कमज़ोर है। इसके अतिरिक्त उनमें अधिक कफ है जिससे गर्भाशय ठीक से काम नहीं करता और बांझपन हो जाता है। अश्वशिला को लेने से प्रजनन अंग पुष्ट होते हैं और गर्भाशय की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। शरीर का वज़न बढ़ता है और गर्मी आती है।

अश्वशिला को किन शारीरिक समस्याओं में लेते हैं?

Indications of Patanjali Ashwashila Capsules in Hindi

अश्वशिला को आप निम्न में ले कर देख सकते हैं:

  • अल्पशुक्राणुता ऑलिगॉस्पर्मिया
  • ऑस्टियोपोरोसिस
  • कमजोर रोगप्रतिरोधक क्षमता
  • कामेच्छा की कमी
  • गठिया
  • जोड़ों में दर्द
  • जोश – शक्ति की कमी
  • तनाव
  • थकान
  • नपुंसकता
  • ब्रोंकाइटिस
  • मधुमेह तंत्रिका विकृति
  • यक्ष्मा टी बी
  • यौन दुर्बलता
  • यौन विकार
  • शारीरिक या मानसिक कमजोरी
  • शारीरिक व मानसिक थकान
  • शीघ्रपतन
  • शुक्राणु असामान्यताएं
  • समयपूर्व स्खलन
  • सामान्य दुर्बलता

पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल का उपयोग कैसे करें?

अश्वशिला कैप्सूल के 1 या 2 कैप्सूल दिन में दो बार, नाश्ते और डिनर के बाद लें।

कैप्सूल को दूध के साथ निगल लें।

हिंदी में पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल साइड इफेक्ट्स

  • अश्वशिला को निर्धारित मात्रा में लेने से इसका कोई गंभीर साइड-इफेक्ट नहीं है।
  • ज्यादा लेने से निम्न साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:
  • शरीर में ज्यादा गर्मी
  • यूरिक एसिड बनना
  • हाथ-पैर में जलन
  • एसिडिटी की समस्या
  • कब्ज़, गैस आदि।

सावधानियां

  • दवा के सेवन के दौरान ब्लड शुगर लेवल की बराबर जांच करते रहें।
  • हाई बीपी में इसे कम मात्रा में लें।

पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल कब नहीं लें?

  • बढ़ा यूरिक एसिड
  • यूरिक एसिड की पथरी
  • गठिया
  • गर्भवती स्त्री

अश्वशिला कैप्सूल का कम्पोजीशन

प्रत्येक कैप्सूल में:

  • अश्वगंधा Extract of Aswagandha (Withania somnifera) 200 mg
  • शिलाजीत Dry extract of Asphaltum (Shilajit) 200 mg

अश्वशिला कैप्सूल का प्राइस

अश्वशिला Ashwashila के २० कैप्सूल का मूल्य 70 रुपए है।

One Comment

  1. पांचाळ विनोद

    मै बॅक कर्मचारी हुं. मेरी उमर 42 साल है. मै शिघ्रपतन से परेशान हुं. मुझे क्या करना चाहिये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!