दिव्य स्त्री रसायन वटी के फायदे, उपयोग विधि और प्राइस

स्त्री रसायन वटी पतंजलि और दिव्य फारमेसी द्वारा निर्मित आयुर्वेदिक दवाई है जो स्त्रियों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए प्रयोग होती है। जानिये दिव्य स्त्री रसायन वटी प्रेगनेंसी में इस्तेमाल करनी चाहिए या नहीं और इसके रिव्यु और प्राइस के बारे में।

आयुर्वेदिक दवाई स्त्री रसायन वटी औरतों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए पतंजलि दिव्य फार्मेसी द्वारा निर्मित दवाई है। इसे  गर्भाशय से एबनॉर्मोलर्मल स्राव (metrorrhagia), मासिक के दौरान पेट में ऐंठन, पीरियड में दर्द (dysmenorrheal), श्रोणि दर्द, सिर दर्द , बेचैनी, मूड में बदलाव, पीठ में दर्द, आदि में ले सकते हैं। यह पाचन digestion को भी सही करती है तथा होर्मोनेस को संतुलिन करने में मदद करती है।

स्त्री रसायन वटी में इम्यूनोमॉड्यूलेटरी प्रभाव, immunoadjuvant, प्रजनन क्षमता और जीवन शक्ति को बढ़ाने की क्षमता है। यह महिलाओं  के लिए आयुर्वेदिक rejuvenative टॉनिक है।

यदि इस दवा का उपयोग कुछ महीने के लिए किया जाता है तो सभी प्रकार की महिला रोगोंमें फायदा होता है। इसे खाने से चेहरे पर झुर्रियां, आंखों के नीचे काले घेरे, कमजोरी, खून की कमी आदि में भी फायदा होता है।

स्त्री रसायन वटी के फायदे Stri Rasayan Vati Benefits

स्त्री रसायन वटी महिला प्रजनन प्रणाली के लिए एक टॉनिक है। इसकी शीतलन और कफ कम करने के गुण इसे इलाज के लिए बहुत प्रभावी बनाते हैं। यह रजोनिवृत्ति के हॉट एंड ड्राई लक्षणों को कम करती है। यह मासिक धर्म विकारों के इलाज के लिए उपयोगी आयुर्वेदिक दवा है। यह गर्भाशय की मांसपेशियों और एंडोमेट्रियम के लिए टॉनिक है। यह गर्भाशय सूजन और दर्द को कम करने वाली दवा है।

स्त्री रसायन वटी रखे महिला स्वास्थ्य का ख्याल

स्त्री रसायन वटी में है, शिवलिंगी, पुत्रजीवक, अश्वगंधा, शतावर, वंशलोचन, आदि जैसे द्रव्य जो स्त्री स्वास्थ्य में फायदेमंद हैं। ये सभी गर्भाशय को ताकत देने वाले हैं। इन सभी को महिला बाँझपन में इस्तेमाल किया जाता रहा है। इससे इम्युनिटी ठीक होती है, मानसिक और संयम को बेहतर होता है। यह सफ़ेद पानी की समस्या मे बहुत लाभकारी है।

स्त्री रसायन वटी कम करे सूजन

स्त्री रसायन वटी में आयरन है। महिलाओं को अनीमिया की समस्या अक्सर हो जाती हो। हर महीने की ब्लीडिंग और सही खान पान नहीं होना इस समस्या को बढ़ाता है। खून की कमी होने पर पीरियड्स जल्दी जल्दी आते हैं जिससे अनीमिया अधिक होता जाता है। खून की कमी से बाल झड़ना, शरीर फूल जाना, थकावट, मूड खराब होना आदि लक्षण प्रकट होते हैं। ऐसे में इस दवा का सेवन हितकर है।

स्त्री रसायन वटी करे पीरियड्स प्रोब्लम्स को कम

स्त्री रसायन वटी अत्यार्तव (menorrhagia), पीरियड्स में दर्द dysmenorrhea, amenorrhea या किसी भी अन्य मासिक धर्म रोगों के लिए उपयोगी है। स्त्री रसायन वटी पीरियड्स के दौरान अधिक ब्लीडिंग, अनियमित मासिक धर्म, शरीर में पानी का भराव, सिर-दर्द, पेट दर्द, कमर में दर्द और बैचैनी आदि लक्षणों को कम करने में मददगार है।

स्त्री रसायन वटी रखे हॉर्मोन संतुलित

स्त्री रसायन वटी हार्मोन्स को बैलेंस करने में सहयोगी है। इसे लेने से यौन अंगो को सामान्य रूप से काम करने मे मदद मिलती है। इसमें शतावरी एस्पैरागस रेसमोसस, है जो स्त्री में फिर से यौवन लाने के लिए जानी जाती है । यह सामान्य यौन दुर्बलता को दूर करती है। इसमें को टॉनिक और मूत्रवर्धक और गैलेक्टगॉग गुण हैं।

स्त्री रसायन वटी रखे पाचन समस्या दूर

स्त्री रसायन वटी पेट का भारीपन और अम्लता कम करती है। यह वात और शरीर की गर्मी को कम करती है।

इसके सेवन से पेट फूलना, कब्ज, गैस, ऐंठन, अपच में लाभ होता है।

खुराक और उपयोग की विधि

स्त्री रसायन वटी  को एक दिन में २-३ बार एक से दो गोली की डोज़ में ले सकते हैं। इसे दूध या गर्म पानी के साथ भोजन के बाद में लेते हैं।

स्त्री रसायन वटी कम्पोजीशन

हर 500 मिलीग्राम में:

  • शिवलिंगी 28 मिलीग्राम
  • पारस पीपल 28 मिलीग्राम
  • नागकेशर 28 मिलीग्राम
  • अश्वगंधा 28 मिलीग्राम
  • शरपुन्खा 28 मिलीग्राम
  • शतावर 28 मिलीग्राम
  • मुलेठी 28 मिलीग्राम
  • आंवला 28 मिलीग्राम
  • देवदारु 28 मिलीग्राम
  • कमलगट्टा 28 मिलीग्राम
  • पुत्रजीवक 28 मिलीग्राम
  • शिलाजीत 28 मिलीग्राम
  • वंशलोचन 28 मिलीग्राम
  • गुग्गुलु 26 मिलीग्राम
  • लौह भस्म 26 मिलीग्राम

स्त्री रसायन वटी की कीमत Stri Rasayan Vati Price

स्त्री रसायन वटी के 20 ग्राम (40 टेबलेट्स) की कीमत 50 रुपये है।

स्त्री रसायन वटी के साइड इफेक्ट्स

  • बुद्धिमानी से इस्तेमाल करने पर इस दवा का कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।
  • विषाक्तता ज्ञात नहीं है।
  • एलर्जी प्रतिक्रियाएं (एलर्जी) ज्ञात नहीं है।
  • दवाओं का पारस्परिक प्रभाव ज्ञात नहीं है।
  • गर्भावस्था और स्तनपान: गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान इसे बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.