पतंजलि उशीरासव के लाभ, नुकसान, उपयोग करने का तरीका

जानिये पतंजलि उशीरासव के फायदे, नुकसान, प्राइस और उपयोग करने का तरीका की जानकारी।

उशीरासव को रक्तस्राव विकारों (नाक से रक्तस्राव, भारी मासिक धर्म रक्तस्राव), आंतों के कीड़े, पाइल्स, त्वचा रोगों, मूत्र पथ विकार, मधुमेह आदि के इलाज में उपयोग किया जाता है। इसमें संधान के समय से जो अल्कोहल उत्पन्न होता है वह सक्रिय हर्बल घटकों को घुलनशील करने के लिए एक मीडिया के रूप में कार्य करता है।

उशीरासव से पित्त संतुलित होता है और पित्त की अधिकता से हो रहे लक्षण दूर होते हैं।

पतंजलि के 450 ml उशीरासव की कीमत 80 रुपये है।

उशीरासव के फायदे

उशीरासव सभी प्रकार के रक्तस्राव विकारों में उपयोगी है, उदाहरण के लिए एपिस्टैक्सिस, गुदा रक्तस्राव, मेनोरगैगिया इत्यादि। यह पेशाब के दौरान जलने की उत्तेजना को कम करता है।

Usirasav एक तरल आयुर्वेद दवा है जो रक्तस्राव विकार, त्वचा रोगों में प्रभावी है।

उशीरासव में निम्न औषधीय गुण है:

  • एंटी-बैक्टीरियल
  • एंटी-माइक्रोबियल
  • कृमिनाशक
  • मूत्रवर्धक
  • रक्त शोधक
  • हेमोस्टैटिक

साफ़ करे खून

उशीरासव रक्त को शुद्ध करता है और विषाक्त पदार्थों को को कम करता है। इस गुण से यह त्वचा रोगों में फायदेमंद है।

पेशाब की जलन में दे राहत

उशीरासव मूत्रवर्धक, शीतलन, और रक्त शोधक है। इसे लेने से पेशान की जलन में आराम होता है।

ब्लीडिंग डिसऑर्डर में लाभप्रद

उशीरासव का हेमोस्टैटिक गुण है। यह शरीर में पित्त की अधिकता को भी कम करता है। इन दोनों गुणों से इस दवा के सेवन से खून गिरने के विकारों में फायदा होता है।

नकसीर फूटने पर नाक से खून बहता है जो नाक में छोटे रक्त वाहिकाओं के टूटने के कारण होता है। ऐसे मेंउशिरासावले कर देखना चाहिए ।

उशीरासव के संकेत

  • आंत्र परजीवी
  • चर्म रोग
  • नाक से खून आना
  • ब्लीडिंग पाइल्स
  • मूत्र पथ के संक्रमण
  • यूरीमिया
  • रक्त विकार
  • रक्तप्रदर
  • रक्तमेह
  • वीर्यपात
  • हेमोरेज

उशीरासव की खुराक

उशीरासव को वयस्क 12 से 24 मिलीलीटर की खुराक में ले सकते हैं। इसे पानी की बराबर मात्रा मिलाकर, दिन में दो बार लेना चाहिए।

5 साल से ऊपर के बच्चों में, इस दवा का उपयोग कम खुराक में करना सुरक्षित है। लेकिन बिना डॉक्टर की सलाह के दवा देना न शुरू करें।

डॉक्टर के पर्चे के आधार पर, इस दवा का उपयोग 2 सप्ताह से 4 महीने तक किया जा सकता है।

उशीरासव के दुष्प्रभाव

अधिक मात्रा में इस दवा का सेवन पेट में जलन कर सकता है।

उशीरासव किसे नहीं दें?

  • गर्भावस्था
  • स्तनपान

भंडारण निर्देश

ठंडे और सूखी जगह में स्टोर करें।

सुरक्षा जानकारी

  • उपयोग से पहले लेबल को ध्यान से पढ़ें।
  • अनुशंसित खुराक से अधिक न प्रयोग करें।
  • बच्चों की पहुंच और दृष्टि से बाहर रखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!