पाचन को दुरुस्त करने वाला सिरप झंडू पंचारिष्ट कैसे प्रयोग करें

झंडू पंचारिष्ट कई विशिष्ठ जड़ी बूटियों द्वारा निर्मित एक पाचन ठीक करने का टॉनिक है। जानिये झंडू पंचारिष्ट के फायदे क्या है, इसको लेने का तरीका और इसके साइड इफेक्ट्स क्या हो सकते हैं। जानिये झंडू पंचारिष्ट कीमत और कहाँ से खरीदें।

झंडू पंचारिष्ट को पाचन की दिक्कतों और सामान्य पेट की बीमारियों में ले सकते हैं। यह एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक औषधि है जो झंडू फार्मेसी बनाती है। यह दवा क्लासिकल नहीं और झंडू की पेटेंटेड दवाई है। इसलिए इसे और फार्मेसी नहीं बना सकती है।

पंचारिष्ट को आप कब्ज, गैस, अफारा, पेटफूलना, भूख की कमी, गैस के कारण होने वाला पेट दर्द, अपच,अजीर्ण, बदहजमी, पेट में भारीपन की समस्या होने पर इस्तेमाल में ला सकते हैं। इसे रोजाना दिन में दो बार लेना चाहिए। पाचन के विकार जल्दी ठीक नहीं होते इसलिए इसे एक दो महिना ले कर देखें। पंचारिष्ट को पुरानी कब्ज और पेट में दर्द में भी लिया जा सकता है।

झंडू पंचारिष्ट के फायदे

पंचारिष्ट पूर्ण पाचन टॉनिक है जो समग्र पाचन तंत्र को पुनर्जीवित करके और आपकी भूख में सुधार करके मूल कारण पर काम करती है। पंचारिष्ट यकृत (लिवर) के काम में सुधार लाती है और क्रमाकुंचन (peristalsis) में भी सुधार करती है। यह पेट की मांसपेशियों और आंत को ताकत देती है।

झंडू पंचारिष्ट है पाचन का टॉनिक

पंचारिष्ट में जड़ी बूटी और अन्य अवयवों से समृद्ध एक अद्वितीय आयुर्वेदिक पाचन टॉनिक है। यह पूरे पाचन तंत्र पर कार्य करता है, पाचन प्रतिरोधकता का निर्माण करता है और अम्लता, गैस, अपचन, पेट फूलना और कब्ज जैसी पाचन समस्याओं के पुनरावृत्ति को कम करता है। यह पेट की बीमारियों में फायदेमंद है। पंचारिष्ट, पाचन शक्ति बढाने का काम करती है।

गैस करे कम

पंचारिष्ट गैस का बनना कम करती है और इसे नीचे की ओर ले जाती है। गैस यदि उपर चढ़ती है तो छाती में दर्द और बेचैनी होती है। पंचारिष्ट को रोजाना लेने से पेट का फूलना, गैस, गैस से दर्द, इत्यादि की शिकायत दूर होती है।

बढाए भूख

पंचारिष्ट को नियमित पीने से कब्ज़ दूर होती है, आंते साफ़ होती है और पाचक रसों का सही मात्रा में स्राव होता है। जब पेट ठीक से साफ़ होता है तो भूख भी ठीक से लगती है।

दूर करे कब्ज़

पंचारिष्ट में कब्ज़ को दूर करने के लिए एलो वेरा, किशमिश, त्रिफला, त्रिकतु,अजमोद, धनिया, त्रिकटु हैं। कब्ज़ में स्टूल बहुत हार्ड हो जाता है और आँतों में पड़ा सड़ने लगता है। इससे पेट में दर्द, गैस, उलटी,अपच आदि होने लगते हैं। कब्ज़ बहुत सी स्वास्थ्य समस्याओं की जद है। पुरानी कब्ज़ से पाइल्स, भगंदर आदि हो सकते हैं। आयुर्वेद में किशमिश और एलो वेरा को कब्ज़ में बहुत इफेक्टिव बताया गया है। पंचारिष्ट में ये दोनों उअर साथ में अन्य द्रव्य भी है जो इसे कब्ज़ में असरदार बनाते हैं।

सूजन करे दूर

पंचारिष्ट में दशमूल है जो सूजन और दर्द में फायदेमंद है। दशमूल शरीर से अतिरिक्त वायु को हटाने के लिए इस्तेमाल होता है। यह एक मांसपेशी टॉनिक है जो शरीर को मजबूत करता है और नसों को शांत करता है। दशमूल विशेष रूप से वायु के रोगों जैसे गठिया, गठिया, और दर्द के उपचार में संकेतित है। शरीर की किसी भी तरह की सूजन प्रभावी रूप से दशमूल के साथ प्रबंधित की जा सकती है। इसमें दर्द निवारक गुण होते हैं जो कई प्रकार के दर्द को कम करते हैं।

पंचारिष्ट की डोज़ और लेने का तरीका सेवन विधि

Dosage of Zandu Pancharishta in Hindi

पंचारिष्ट 1 से 2 चम्मच (10 से 30 मिलीलीटर) को बराबर मात्रा में पानी के साथ मिलाएं और भोजन के बाद नियमित रूप से दो बार लें। 30 मिलीलीटर की मात्रा कुछ लोगों के लिए ज्यादा हो सकती है।

एक दिन में 60 ml से ज्यादा नहीं लें।

पंचारिष्ट का प्रयोग 1 महीने से 6 महीने तक कर सकते हैं।

झंडू पंचारिस्ट के दुष्प्रभाव Side Effects of Zandu Pancharishta in Hindi

  • कुछ लोगों में इससे खट्टी डकार, एसिडिटी हो सकती है।
  • इससे गैस्ट्रिक इरीटेशन हो सकता है।
  • मुंह में छाले है तो इसका सेवन नहीं करें।
  • कोमल प्रकृति के हैं तो केवल दस मिलीलीटर ही लें। ज्यादा लेंगे तो शरीर में गर्मी बढ़ेगी।
  • नकसीर फूटने की दिक्कत है तो इसे कम मात्रा में लें।
  • इसे लेने से शरीर में गर्मी अधिक हो जाए तो नहीं लें।
  • इसे खाली पेट नहीं लें।
  • इसमें अल्कोहल है जो असाव के संधान के समय अपने आप बनता है। अल्कोहलिक टेस्ट कुछ लोगों को पसंद नहीं आता।
  • एसिडिटी में इसके प्रयोग से ज्यादा फायदा नहीं होता।

बच्चों में प्रयोग

यह बच्चों के लिए सूटेबल नहीं है। इसे बच्चों को न दें। उनके लिए पेट की दिक्कतों के लिए घुट्टी समेत कई अच्छी सौम्य दवाएं है।

प्रेगनेंसी और ब्रेस्टफीडिंग

  • इसे प्रेगनेंसी में नहीं लें।
  • ब्रेस्टफीडिंग में भी नहीं लेना बेहतर है।

झंडू पंचारिष्ट का कम्पोजीशन

प्रत्येक 20 मिलीलीटर झंडू पंचारिष्ट (Zandu Pancharishta) में:

  • द्राक्षा 500 मिलीग्राम
  • घृतकुमारी 400 मिलीग्राम
  • दशमूल 400 मिलीग्राम
  • अश्वगंधा 200 मिलीग्राम
  • शतावरी 200 मिलीग्राम
  • त्रिफला 120 मिलीग्राम
  • गिलोय 100 मिलीग्राम
  • बला 100 मिलीग्राम
  • मुलेठी 100 मिलीग्राम
  • त्रिकटु 60 मिलीग्राम
  • त्रिजात 60 मिलीग्राम
  • अर्जुन 40 मिलीग्राम
  • मंजिष्ठा 40 मिलीग्राम
  • अजमोद 20 मिलीग्राम
  • कपूरकचरी 20 मिलीग्राम
  • जीरा 20 मिलीग्राम
  • धनिया 20 मिलीग्राम
  • लौंग 20 मिलीग्राम
  • हल्दी 20 मिलीग्राम

झंडू पंचारिष्ट की कीमत

  • 200 ml Rupees 55
  • 450 ml Rupees 115
  • 650 ml Rupees 155

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!